Songs of Shailendra::
archives

Madhumati

This tag is associated with 9 posts

१९५८ – मधुमती – टूटे हुए ख़्वाबों ने | 1958 – Madhumati – toote hue khwabon ne

टूटे हुए ख़्वाबों ने, हमको ये सिखाया है दिल ने जिसे पाया था, आँखों ने गँवाया है टूटे हुए ख़्वाबों ने हम ढूँढ़ते हैं उनको, जो मिलके नहीं मिलते रूठे हैं न जाने क्यूँ, मेहमाँ वो मेरे दिल के क्या अपनी तमन्ना थी, क्या सामने आया है दिल ने जिसे पाया था, आँखों ने गँवाया … Continue reading

१९५८ – मधुमती – जंगल में मोर नाचा | 1958 – Madhumati – jungle mein mor naacha

जंगल में मोर नाचा, किसीने ना देखा हम जो थोड़ी-सी पीके ज़रा झूमे, हाय रे सब ने देखा जंगल में मोर नाचा, किसीने ना देखा गोरी की गोल-गोल अँखियाँ शराबी कर चुकी हैं कैसे-कैसों की ख़राबी इनका ये ज़ोर-ज़ुल्म किसीने ना देखा हम जो थोड़ी-सी पीके ज़रा झूमे, हाय रे सब ने देखा जंगल में … Continue reading

१९५८ – मधुमती – चढ़ गयो पापी बिछुआ | 1958 – Madhumati – chadh gayo papi bichhua

ओ ओ ओ ओ बिछुआ, हाय रे पीपल छैँया बैठी पलभर भरके गगरिया, हाय रे होय ओय ओय ओय दैय्या रे, दैय्या रे, चढ़ गयो पापी बिछुआ ओ हाय हाय रे मर गई, कोई उतारो बिछुआ दैय्या रे, दैय्या रे, चढ़ गयो पापी बिछुआ कैसो रे पापी बिछुआ, कैसो रे पापी बिछुआ दैय्या रे, दैय्या … Continue reading

१९५८ – मधुमती – सुहाना सफ़र और ये मौसम हसीं | 1958 – Madhumati – suhana safar aur ye mausam haseen

सुहाना सफ़र और ये मौसम हसीं हमें डर है हम खो न जाएँ कहीं सुहाना सफ़र और ये मौसम हसीं ये कौन हँसता है फूलों में छुपकर बहार बेचैन है किसकी धुन पर कहीं गुनगुन, कहीं रुनझुन, कि जैसे नाचे ज़मीं सुहाना सफ़र और ये मौसम हसीं … ये गोरी नदियों का चलना उछलकर कि … Continue reading

१९५८ – मधुमती – हम हाल-ए-दिल सुनाएँगे | 1958 – Madhumati – hum haal-e-dil sunayenge

तुम्हारा दिल मेरे दिल के बराबर हो नहीं सकता वो शीशा हो नहीं सकता, ये पत्थर हो नहीं सकता हम हाल-ए-दिल सुनाएँगे, सुनिए कि न सुनिए सौ बार इसे दोहराएँगे, सुनिए कि न सुनिए हम हाल-ए-दिल सुनाएँगे रहेगा इश्क़ तेरा ख़ाक में मिलाके मुझे हुए हैं इब्तिदा में रंज इंतेहा के मुझे हम हाल-ए-दिल सुनाएँगे … Continue reading

1958 – Madhumati – dil tadap-tadap ke keh raha hai

Film Madhumati Music Director Salil Chowdhury Year 1958 Singer(s) Lata, Mukesh Audio Video On Screen Vyjayantimala, Dilip Kumar दिल तड़प-तड़पके कह रहा है आ भी जा तू हमसे आँख ना चुरा, तुझे क़सम है आ भी जा तू नहीं तो ये बहार क्या बहार है गुल नहीं खिले कि तेरा इंतज़ार है कि तेरा इंतज़ार … Continue reading

1958 – Madhumati – ghadi-ghadi mora dil dhadke

Film Madhumati Music Director Salil Chowdhury Year 1958 Singer(s) Lata Audio Video On Screen Vyjayantimala घड़ी-घड़ी मोरा दिल धड़के, हाय धड़के, क्यूँ धड़के आज मिलन की बेला में, सर से चुनरिया क्यूँ सरके घड़ी-घड़ी मोरा दिल धड़के सारी उमर के बदले मैंने माँगी थी ये शाम आज यहीं खो जाऊँगी मैं उनकी बाँहें थाम रे, … Continue reading

1958 – Madhumati – zulmi sang aankh ladi

Film Madhumati Music Director Salil Chowdhury Year 1958 Singer(s) Lata, Chorus Audio Video On Screen Vyjayantimala, Dilip Kumar ज़ुल्मी संग आँख लड़ी, जुल्मी संग आँख लड़ी रे सखी मैं कासे कहूँ, री सखी कासे कहूँ जाने कैसी ये गाँठ पड़ी ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे वो छुप-छुप के बँसरी बजाए, सुनाए मोहे मस्ती में डूबा … Continue reading

1958 – Madhumati – aajaa re pardesi

Film Madhumati Music Director Salil Chowdhury Year 1958 Singer(s) Lata Audio Video On Screen Vyjayantimala, Dilip Kumar आजा रे, परदेसी मैं तो कबसे खड़ी इस पार ये अँखियाँ थक गईं पंथ निहार आजा रे, परदेसी मैं दिये की ऐसी बाती जल ना सकी जो बुझ भी ना पाती आ मिल मेरे जीवनसाथी आजा रे … … Continue reading