Songs of Shailendra::
archives

Manna Dey

This category contains 12 posts

१९६३ – बेगाना – सागर का झलमल पानी | 1963 – Begana – sagar ka jhalamal paani

सागर का झलमल पानी, मछरिया बलखाती जाए देखो बलखाती जाए मतवारी देखे मगरमच्छ लोभी, कमरिया लचकाती जाए देखो लचकाती जाए मतवारी सागर का झलमल पानी, मछरिया बलखाती जाए देखो बलखाती जाए मतवारी सोन-रंग मछली, नीलम-रंग पानी है बिखरा गगन पे गुलाल छुपके किनारे से बूढ़े मछेरे ने फैलाए रेशम के जाल बच-बचके जाए वो हाथ … Continue reading

१९६७ – रात और दिन – दिल की गिरह खोल दो, चुप न बैठो, कोई गीत गाओ | 1967 – Raat Aur Din – dil ki girah khol do, chup na baitho, koi geet gaao

Film Raat Aur Din Music Director Shankar-Jaikishan Year 1967 Singer(s) Lata, Manna Dey Audio Video On Screen Nargis, Feroz Khan दिल की गिरह खोल दो, चुप न बैठो, कोई गीत गाओ महफ़िल में अब कौन है अजनबी, तुम मेरे पास आओ दिल की गिरह खोल दो, चुप न बैठो, कोई गीत गाओ मिलने दो अब … Continue reading

१९५५ – सीमा – तू प्यार का सागर है | 1955 – Seema – tu pyar ka sagar hai

Film Seema Music Director Shankar-Jaikishan Year 1955 Singer(s) Manna Dey, Chorus Audio Video On Screen Nutan, Balraj Sahni तू प्यार का सागर है, तेरी एक बूँद के प्यासे हम लौटा जो दिया तूने, चले जाएँगे जहाँ से हम तू प्यार का सागर है घायल मन का पागल पंछी उड़ने को बेक़रार पंख हैं कोमल, आँख … Continue reading

१९५९ – उजाला – अब कहाँ जाएँ हम | 1959 – Ujala – ab kahan jaayein hum

Film Ujala Music Director Shankar-Jaikishan Year 1959 Singer(s) Manna Dey, Chorus Audio Video On Screen Shammi Kapoor अब कहाँ जाएँ हम, ये बता ऐ ज़मीं इस जहाँ में तो कोई हमारा नहीं अपने साये से भी लोग डरने लगे अब किसीको किसीपर भरोसा नहीं अब कहाँ जाएँ हम हम घर-घर जाते हैं, ये दिल दिखलाते … Continue reading

१९५९ – उजाला – सूरज ज़रा आ पास आ | 1959 – Ujala – sooraj zara aa paas aa

Film Ujala Music Director Shankar-Jaikishan Year 1959 Singer(s) Manna Dey, Chorus Audio Video On Screen Shammi Kapoor सूरज ज़रा आ पास आ आज सपनों की रोटी पकाएँगे हम ऐ आसमाँ तू बड़ा मेहेरबाँ आज तुझको भी दावत खिलाएँगे हम सूरज ज़रा आ पास आ चूल्हा है ठण्डा पड़ा, और पेट में आग है गरमा-गरम रोटियाँ, … Continue reading

१९५५ – श्री ४२० – मुड़-मुड़के ना देख मुड़-मुड़के | 1955 – Shree 420 – mud mud ke na dekh mud mud ke

Film Shree 420 Music Director Shankar-Jaikishan Year 1955 Singer(s) Asha, Manna Dey Audio Video On Screen Nadira, Raj Kapoor मुड़-मुड़के ना देख मुड़-मुड़के मुड़-मुड़के ना देख मुड़-मुड़के ज़िंदगानी के सफ़र में तू अकेला ही नहीं हैं हम भी तेरे हमसफ़र हैं मुड़-मुड़के ना देख मुड़-मुड़के आए-गए मंज़िलों के निशाँ लहराके झूमा, झुका आसमाँ लेकिन रुकेगा … Continue reading

१९६३ – मेरी सूरत तेरी आँखें – पूछो ना कैसे मैंने रैन बिताई | 1963 – Meri Surat Teri Ankhen – poochho na kaise maine rain bitai

Film Meri Surat Teri Ankhen Music Director S D Burman Year 1963 Singer(s) Manna Dey Audio Video On Screen Ashok Kumar पूछो ना कैसे मैंने रैन बिताई इक पल जैसे इक जुग बीता जुग बीते, मोहे नींद ना आई पूछो ना कैसे मैंने रैन बिताई उत जले दीपक, इत मन मेरा फिर भी न जाए … Continue reading

१९६० – काला बाज़ार – साँझ ढली, दिल की लगी थक चली पुकारके | 1960 – Kala Bazar – saanjh dhali, dil ki lagi thak chali pukarke

Film Kala Bazar Music Director S D Burman Year 1960 Singer(s) Asha, Manna Dey Audio Video On Screen Waheeda Rehman, Dev Anand साँझ ढली, दिल की लगी थक चली पुकारके आ जा आ जा, आ भी जा क्या दूँ तुझे पहले से मैं बैठी हूँ दिल हारके जा जा जा जा, जा तू जा ज़िद … Continue reading

१९५९ – उजाला – छम-छम लो सुनो छम-छम | 1959 – Ujala – chham-chham lo suno chham-chham

Film Ujala Music Director Shankar-Jaikishan Year 1959 Singer(s) Lata, Manna, Chorus Audio Video On Screen Mala Sinha, Shammi Kapoor छम-छम लो सुनो छम-छम, हो सुनो छम-छम, हाय हाय छम-छम ठुमक-ठुमक रात चले, तारों की बारात चले, इनके साथ-साथ चले हम झनझनाके साज़ ज़िंदगी का, उठ रहा है गीत ये ख़ुशी क रात जवाँ, प्यार जवाँ, … Continue reading

१९५३ – दो बीघा ज़मीन – हरियाला सावन ढोल बजाता आया | 1953 – Do Bigha Zameen – hariyala sawan dhol bajata aaya

Film Do Bigha Zameen Music Director Salil Chowdhury Year 1953 Singer(s) Lata, Manna, Chorus Audio Video On Screen हरियाला सावन ढोल बजाता आया धिन-तक-तक मन के मोर नचाता आया हरियाला सावन ढोल बजाता आया धिन-तक-तक मन के मोर नचाता आया मिट्टी में जान जगाता आया धरती पहनेगी हरी चुनरिया, बनके दुल्हनिया एक अगन बुझी, एक … Continue reading