Songs of Shailendra::
archives

1957

This tag is associated with 15 posts

१९५७ – अब दिल्ली दूर नहीं – मालिक तेरे जहान में इतने बड़े जहान में | 1957 – Ab Dilli Door Nahin – maalik tere jahan mein itne bade jahan mein

मालिक तेरे जहाँ में, इतने बड़े जहाँ में कोई नहीं हमारा, कोई नहीं हमारा अब किसके द्वार जाऊँ, दुख में किसे बुलाऊँ सब कर गए किनारा, कोई नहीं हमारा मलिक तेरे जहाँ में इस हाल में भी देखो ठुकरा रही है दुनिया हम पर बनी तो हामसे कतरा रही है दुनिया ना आस ना दिलासा, … Continue reading

१९५७ – अब दिल्ली दूर नहीं – माता ओ माता | 1957 – Ab Dilli Door Nahin – mata o mata

माता ओ माता जो तू आज होती मुझे यूँ बिलखता अगर देखती तेरा दिल टूट जाता माता ओ माता मुझे चूमकर तूने एक दिन कहा था मेरे लाडले तू तो राजा बनेगा सदा प्यार की पालकी में चलेगा बे-आस बे-घर मैं फिरता हूँ दर-दर मुझे यूँ भटकता अगर देखती तेरा दिल टूट जाता माता ओ … Continue reading

१९५७ – अब दिल्ली दूर नहीं – ये चमन हमारा अपना है | 1957 – Ab Dilli Door Nahin – ye chaman hamara apna hai

ये चमन हमारा अपना है इस देश पे अपना राज है मत कहो कि सर पे टोपी है कहो सर पे हमारे ताज है ये चमन हमारा अपना है आती थी एक दीवाली, बरसों में कभी ख़ुशहाली अब तो हर एक वार एक त्योहार है, ये उभरता-सँवरता समाज है ये चमन हमारा अपना है … … Continue reading

१९५७ – एक गाँव की कहानी – रात ने क्या-क्या ख़्वाब दिखाए | 1957 – Ek Gaon Ki Kahani – raat ne kya-kya khwab dikhaye

Film Ek Gaon Ki Kahani Music Director Salil Chowdhury Year 1957 Singer(s) Talat Audio Video On Screen Talat Mahmood रात ने क्या-क्या ख़्वाब दिखाए, रंगभरे सौ जाल बिछाए आँखें खुलीं तो सपने टूटे, रह गए ग़म के काले साए रात ने क्या-क्या ख़्वाब दिखाए हमने तो चाहा भूल ही जाएँ, वो अफ़्साना क्यूँ दोहराएँ दिल … Continue reading

१९५७ – बेगुनाह – ऐ प्यासे दिल बेज़ुबाँ | 1957 – Begunah – ae pyaase dil bezuban

Film Begunah Music Director Shankar-Jaikishan Year 1957 Singer(s) Mukesh Audio Video On Screen Jaikishan ऐ प्यासे दिल बेज़ुबाँ, तुझको ले जाऊँ कहाँ आग को आग में ढालके, कब तक जी बहलाएगा ऐ प्यासे दिल बेज़ुबाँ घटा झुकी और हवा चली तो हमने किसीको याद क्या चाहत के वीराने को उनके ग़म से आबाद किया ऐ … Continue reading