Songs of Shailendra::
archives

Archive for

१९६६ – आम्रपाली – नाचो गाओ नाचो, धूम मचाओ नाचो | 1966 – Amrapali – nacho gao nacho dhoom machao nacho

Film Amrapali Music Director Shankar-Jaikishan Year 1966 Singer(s) Chorus Audio Video On Screen नाचो गाओ नाचो, धूम मचाओ नाचो आया मंगल त्यौहार, लेके ख़ुशियाँ हज़ार तन-मन हार नहीं सकता अन्यायी तलवारों से राख हुआ है जो भी खेला है इन अंगारों से सच की हरदम है जीत, सच के सारे हैं मीत आया मंगल त्योहार, … Continue reading

१९५९ – लव मैरेज – कहे झूम-झूम रात ये सुहानी | 1959 – Love Marriage – kahe jhoom jhoom raat ye suhani

Film Love Marriage Music Director Shankar-Jaikishan Year 1959 Singer(s) Lata Audio Video On Screen Mala Sinha कहे झूम-झूम रात ये सुहानी पिया हौले-से छेड़ो दुबारा वही कल की रसीली कहानी कहे झूम-झूम रात ये सुहानी सुनके जिसे दिल मेरा धड़का लाज के सर से आँचल सरका रात ने ऐसा जादू फेरा और ही निकला रंग … Continue reading

१९६२ – आशिक़ – ये तो कहो, कौन हो तुम | 1962 – Aashiq – ye to kaho kaun ho tum

Film Aashiq Music Director Shankar-Jaikishan Year 1962 Singer(s) Mukesh, Chorus Audio Video On Screen Padmini, Raj Kapoor ये तो कहो, कौन हो तुम, कौन हो तुम मुझसे पूछे बिना दिल में आने लगे ये तो कहो, कौन हो तुम, कौन हो तुम मीठी नज़रों से बिजली गिराने लगे ये तो कहो, कौन हो तुम, कौन … Continue reading

१९६३ – मेरी सूरत तेरी आँखें – तेरे ख़यालों में, तेरे-ही ख़्वाबों में | 1963 – Meri Surat Teri Ankhen – tere khayalon mein tere hi khwabon mein

Film Meri Surat Teri Ankhen Music Director S D Burman Year 1963 Singer(s) Lata Audio Video On Screen Asha Parekh तेरे ख़यालों में, तेरे-ही ख़्वाबों में दिन जाए रैना जाए रे जाने ना तू साँवरिया फूलों के मौसम ने, कोयल की पंचम ने रंगीन सपने जगाए तरसे बहरों को, तेरे नज़ारों को दिल की कली … Continue reading

१९६२ – आशिक़ – तुम जो हमारे मीत ना होते | 1962 – Aashiq – tum jo hamare meet na hote

Film Aashiq Music Director Shankar-Jaikishan Year 1962 Singer(s) Mukesh Audio Video On Screen Padmini, Raj Kapoor तुम जो हमारे मीत ना होते, गीत ये मेरे गीत ना होते हँसके जो तुम ये रंग ना भरते, ख़्वाब ये मेरे ख़्वाब ना होते तुम जो हमारे मीत ना होते तुम जो न सुनते, क्यूँ गाता मैं बेबस … Continue reading

१९६० – परख – ओ सजना, बरखा बहार आई | 1960 – Parakh – o sajna barkha bahar aai

Film Parakh Music Director Salil Chowdhury Year 1960 Singer(s) Lata Audio Video On Screen Sadhana ओ सजना ओ सजना, बरखा बहार आई रस की फुहार लाई अँखियों में प्यार लाई ओ सजना तुमको पुकारे मेरे मन का पपीहरा मीठी-मीठी अग्नि में जले मोरा जियरा ओ सजना … ऐसी रिमझिम में ओ सजन प्यासे-प्यासे मेरे नयन, … Continue reading

१९६४ – दूर गगन की छाँव में – कोई लौटा दे मेरे बीते हुए दिन | 1964 – Door Gagan Ki Chhaon Mein – koi lauta de mere beete hue din

Film Door Gagan Ki Chhaon Mein Music Director Kishore Kumar Year 1964 Singer(s) Kishore Audio Video On Screen Kishore Kumar अलबेले दिन प्यारे, मेरे बिछड़े साथ-सहारे हाय कहाँ गए, हाय कहाँ गए आँखों के उजियारे, मेरी सूनी रात के तारे हाय कहाँ गए कोई लौटा दे मेरे बीते हुए दिन बीते हुए दिन, वो मेरे … Continue reading

१९५३ – दो बीघा ज़मीन – आजा री आ, निंदिया तू आ | 1953 – Do Bigha Zamin – aa ja ri aa, nindiya tu aa

Film Do Bigha Zamin Music Director Salil Chowdhury Year 1953 Singer(s) Lata Audio Video On Screen Meena Kumari, Nirupa Roy आजा री आ, निंदिया तू आ झिलमिल सितारों से उतर, आँखों में आ, सपने सजा आजा री आ, निंदिया तू आ सोई कली, सोया चमन, पीपल तले सोई हवा सब रंग गए एक रंग में, … Continue reading

१९५३ – दो बीघा ज़मीन – अजब तोरी दुनिया, हो मोरे रामा | 1953 – Do Bigha Zamin – ajab tori duniya, ho more rama

Film Do Bigha Zamin Music Director Salil Chowdhury Year 1953 Singer(s) Rafi, Chorus Audio Video On Screen अजब तोरी दुनिया, हो मोरे रामा, अजब तोरी दुनिया क़दम-क़दम देखी भूलभुलैय्या, क़दम-क़दम देखी भूलभुलैय्या, गजब तोरी दुनिया हो मोरे रामा, गजब तोरी दुनिया, हो मोरे रामा कोई कहे जग झूठा सपना, पानी की बुलबुलिया हर किताब में … Continue reading

१९६६ – आम्रपाली – तुम्हें याद करते-करते जाएगी रैन सारी | 1966 – Amarapali – tumhein yaad karte karte jaayegi rain saari

Film Amrapali Music Director Shankar-Jaikishan Year 1966 Singer(s) Lata Audio Video On Screen Vyjayantimala तुम्हें याद करते-करते, जाएगी रैन सारी तुम ले गए हो अपने संग नींद भी हमारी मन है के जा बसा है अनजान इक नगर में कुछ खोजता है पागल खोई हुई डगर में इतने बड़े महल में घबराऊँ मैं बिचारी तुम … Continue reading